​कर्ज में दिया पैसा मॉगा तो दे डाली जान से मारने की धमकी, गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज

शबाब ख़ान

वाराणसी: बेईमानी के इस दौर में आजकल किसी की मदद करना भी आपको थाने, कचहरी के चक्कर लगवा सकता है। जरूरत पड़नें पर अपने खासमखास को आज के समय में यदि आपने कर्ज के रुप में पैसे दिया इस उम्मीद पर की परेशानी दूर होते ही सामने वाला आपका पैसा ‘धन्यवाद’ के साथ वापस कर देगा तो यह आपकी खुशफहमी साबित हो सकती है। सभी में न सही, लेकिन अधिकतर मामलों में उधार लिया गया धन हजम कर जानें की परंपरा बनती जा रही है। ऐसे डूबे धन को वापस पाने के लिए पीड़ितों की पुलिस से मदद लेने की कोशिशे बढ़ती जा रही है, जानकारी के अनुसार हर रोज थानों में तीन-चार मामले ऐसे पहुँच रहे हैं जिनमें ‘दिया गया पैसा वापस दिलानें की कृपा करें’ जैसी शिकायत होती हैं। ऐसे ज्यादातर मामलों में पीड़ित को ‘हमसे पूछकर पैसा दिया था क्या?’ जैसा जवाब थानों में दे दिया जाता है, या फिर पुलिस आरोपी को बुलाकर दोनों पक्षों में सुलाह कराकर किश्ते बँधवा देती है, और आरोपी को थोड़ी घुड़की पिला देती है कि वो पैसा उसकी समय पर मदद करने वाले पीड़ित को धीरे-धीरे या कई किश्तो  में चुका दे। और यह एक हद तक सही भी है, आखिर पुलिस कितने मुकदमे दर्ज करेगी, जॉच करेगी, केस डॉयरी, चार्ज शीट, गिरफ्तारी करती रहेगी।

उक्त तथ्यों की बानगी आज देखने को मिली। वाराणसी के जैतपुरा थानाक्षेत्र के डिगिया निवासी शिल्पी जायसवाल ने अपने साथ चार वर्ष से एक प्राईवेट कंपनी में काम कर रहे गोलादिनानाथ निवासी आशीष केशरी को धीरे-धीरे काफी रकम कर्ज के रूप में दे दी। चालाक आशीष शिल्पी से कभी इस बहानें तो कभी उस बहाने पैसा ऐठता रहा, लेकिन एक-एक पाई चुकाने का वादा करता रहता था, सीधी-साधी शिल्पी नें एक अच्छी-खासी रकम उधार के रूप में आशीष को दे दिया।

पिछले दिनों अचानक शिल्पी को पैसों की जरूरत आ पड़ी तो उसने अपने पैसे आशीष से मॉगा, लेकिन वो टाल-मटोल करता रहा। अधिक दबाव बनाने पर आशीष नें शिल्पी को धमकाना शुरू कर दिया। उसने कई बार आमने-सामने तो कई बार फोंन पर शिल्पी को जान से मार डालने की धमकी दी।

तंग आकर शुक्रवार को शिल्पी जायसवाल नें आशीष केशरी के खिलाफ जैतपुरा थाने में केस दर्ज कराया है। पुलिस ने इस मामले में धारा 419, 420 और 506 के तहत रिपोर्ट दर्ज किया है, और आगे की कार्यवाई मे लगी है।

Advertisements

About Shabab Khan

A Journalist, Philanthropist; Author of 'The Magician', 'Go!', 'Brutal'. Being a passionate writer, I am into Journalism and writing columns, news stories, articles for top media house. Twitter: @khantastix khansworld@rediffmail.com
This entry was posted in Crime, National News Hindi and tagged , , , , , , , , , , , , , . Bookmark the permalink.