व्हाटसऐप के जरिए दोस्ती गांठकर, लूटपाट करने वाली युवतियों के गैंग का पर्दाफाश

युवती कोमल और उसके साथी सचिन और अर्जुन गिरफ्तार

By Shabab Khan

इंदौर: सावधान!! खूबसूरत और आकर्षक शरीर और शरीर में किसी भी मर्द खासकर युवा वर्ग को आकर्षित करने के सभी सामानों से लैस युवतियों का गैंग आपका मोबाईल नंबर किसी तरह हासिल करके पहले आपको चैट के माध्यम से दोस्त बनाएगा। फिर व्हाटसऐप पर अपनी मदहोश कर देने वाली फोटोस् भेजकर आपकी सोचने समझने की काबलियत छीन लेगा। फिर एक बार ट्राएल के तौर पर आपको किसी रेस्टोरेंट, होटल वगैराह में बुलाया जाएगा, जहॉ आपसे आपको फँसानें वाली युवती अकेले मिलने आएगीे। इतने भर से आप पूरी तरह अपना आपा खो देगें। कुछ दिनों तक आपसे फोन पर और गर्मा गरम बाते की जाएगी। जब गैंग को लग जाएगा आप पूरी तरह फँस चुके हैं तो आपको किसी सुनसान जगह बुलाया जाएगा, वहॉ आपके जाते ही युवती अपने बाकी के गैंग मेंबरस् जोकि युवक होगे को बुला लेगी और आप लुट जाएगें। कैश, डेबिट/क्रेडिट कार्ड, मोबाईल, आपके शरीर पर यदि कोई अंगूठी, चेन हुई तो वो भी, साथ-साथ आपका वाहन भी आपको लड़की से छेड़छाड़ करने के आरोप में फँसाने की धमकी देकर लूट ले जाएगा, और आप चुपचाप घर आकर खटिया पकड़ लेगें क्योकि किसी को बताएगें तो बेइज्जती आपकी ही होनी है, मजाक आपका ही उड़ाया जाएगा।

इंदौर में एक ऐसे ही गैंग का खुलासा हुआ है, कैटरिंग व्यवसाय की आड़ में भोले-भाले लोगों को व्हाटसऐप के जरिए चैटिंग कर दोस्ती के जाल में फंसाने वाली युवतियों की गैंग के बदमाश सचिन उर्फ चीना ठाकुर, युवती कोमल पिता संजय दानपुने और अर्जुन ने प्राथमिक पूछताछ में शहर में 10 से 11 वारदातें करना कबूला है। वहीं, ये गैंग शहर के अलावा आसपास के शहरों में भी करीब 100 से ज्यादा लोगों से मोबाइल व पर्स छीन चुकी है। शर्म के मारे अधिकांश ने रिपोर्ट ही नहीं की। क्योंकि ऐसा करने पर उनके परिजन, दोस्तों को उनका लड़कियों से इस प्रकार मिलना पता चल जाता। वे अपनी हंसी और बदनामी के डर से अन्याय होने के बाद भी पुलिस के पास नहीं आए होंगे।


लुटेरी गैंग का खुलासा होने के बाद क्राइम ब्रांच लगातार तीन मास्टरमाइंड युवतियों सहित तीन बदमाशों की तलाश में जुटी है। तीनों युवतियां और उनके साथी बदमाश घरों पर ताले लगाकर भाग गए हैं। 6 माह से ये गैंग इसी तरह से युवतियों के जरिए युवाओं को फांस कर उनसे लूट कर रही है। अब तक 11 लोगों के साथ ये वारदातें कर चुके हैं। इनमें से एक व्यापारी ने ही पुलिस को केस दर्ज करवाया है।


एएसपी ने बताया गैंग का मुख्य सरगना छोटे उर्फ सुंदरम और उसकी साथी पायल उर्फ बबली है। पायल ने 5 मई को लसूडिया इलाके में सर्वेश तिवारी नामक एक युवा व्यापारी को भी व्हाटसऐप के जरिए दोस्ती कर मिलने बुलाया था और उससे रुपए व मोबाइल लूट लिया था। लसूड़िया पुलिस ने मामले में केस दर्ज किया है।


सर्वेश ने बताया उसे वारदात के दौरान ही युवती पर शक हो गया था। उसकी निशानदेही पर आरोपी छोटे उर्फ सुंदर, पायल उर्फ बबली व भूरा और पिंटू की तलाश की जा रही है। पायल उर्फ बबली और छोटे ने मिलकर ही 6 माह पूर्व एक युवा व्यापारी को लूटा था।


पायल शादीशुदा है और उसकी 1 बच्ची है। उसका पति मनोज इलेक्ट्रिशियन है। बावजूद इसके वह छोटू के साथ लिव-इन में रहती है। उज्जैन में एक पार्टी के दौरान छोटू के साथ मिलकर उसने सर्वेश तिवारी का नंबर लिया था। फिर उसे व्हाटसऐप चैटिंग के जरिए दोस्ती के जाल में फंसाकर लसूड़िया इलाके में अकेले में मिलने बुलाकर लूट की।


पहली बार युवक मिलने आता तो ये उसकी रेकी करते और दूसरी मुलाकात किसी सुनसान जगह में कराते थे। जैसे ही युवक-युवती साथ में होते वैसे ही गैंग के दूसरे सदस्य उन्हें दबोच लेते। फिर लड़की से छेड़छाड़ की रिपोर्ट करवाने की धमकी देकर घड़ी, चेन, अंगूठी, मोबाइल, पर्स और वाहन लूट लेते। कई पीड़ित तो रिपोर्ट भी नहीं करते। गैंग से छह लाख का माल बरामद किया है। गैंग ने छह वारदात करना कबूला है।


तो आप भी सावधान हो जाए, हो सकता है फेसबुक, व्हाटसऐप पर जिस हसीना से आप रात रात भर बतियाते हो वो डाकू हसीना हो।

Advertisements

About Shabab Khan

A Journalist, Philanthropist; Author of 'The Magician', 'Go!', 'Brutal'. Being a passionate writer, I am into Journalism and writing columns, news stories, articles for top media house. Twitter: @khantastix khansworld@rediffmail.com
This entry was posted in Crime, National News Hindi, Women and tagged , , , , , , . Bookmark the permalink.